27.6 C
Dehradun
Monday, May 27, 2024
Homeउत्तराखंडकिसान कानूनों के विरोध में राजभवन का धेराव

किसान कानूनों के विरोध में राजभवन का धेराव

नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 125 बर्षगांठ के अवसर पर नेताजी को याद करते हुऐ तीन किसान बिलों के विरोध सैकड़ों किसानों ने राजभवन देहरादून का जबर्दस्त धेराव किया तथा सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन प्रेषित किया तथा तीनों किसान बिलों को वापस लेने की पुरजोर मांग की । आज 12 बजे गांधी पार्क से शुरू कर राजपुर रोड़ होते हुऐ कैन्ट रोडं होता हुआ हाथीबड़कला पहुंचा तथा पुलिस से संघर्ष के बाद जलूस आम सभा में परिवर्तित हो गया जहाँ सभा को किसान ,मजदूर नेताओं ने सभा को सम्बोधित किया तथा काले कानून वापस लेने की मांग तथा मोदी सरकार की दमनकारी नीतियों का जोरदार विरोध किया ।सभा मे राजभवन कूच के लिए आ रहे किसानों के जत्थो तथा ट्रकटरों को रोकने की कडे़ शब्दों में निन्दा की है तथा कहा कि भाजपा सरकार किसानों की एकता से घमरा गयी है ।रैली मे.किसान सभा ,किसान यूनियन ,सीटू,,महिला समिति ,एस एफ आई ,महिला मंच ,बीज बचाओ आन्दोलन, वन जन श्रमिक यूनियन, वन गुजर यूनियन ,सर्वोदय मण्डल,किसान यूनियन सतबीर आर्य आदि संगठनों ने हिस्सेदारी कर रही है ।प्रमुख वक्ताओं में संयुक्त किसान मोर्चा उत्तराखण्ड के संयोजक मण्डल के सुरेन्द्र सिंह सजवाण ,किसान सभा के महामंत्री गंगधार नौटियाल ,कोषाध्यक्ष शिवपप्रसाद देवली ,किसान नेता कमरूद्दीन ,सर्वोदय मण्डल के हरबीर कुशवाहा ,बीज बचाओ आन्दोलन बीजू नेगी ,किसान यूनियन के सतबीर सिंह ,दौलत कुवंर ,वन गुजर यूनियन मुस्तफा चोपडा ,सीटूअध्यक्ष राजेंद्र नेगी, जिलामहामन्त्री लेखराज ,महिला समिति महामंत्री दमयन्ती नेगी ,एस एफ आई के अध्यक्ष तथा महामंत्री नितिन मलेठा ,हिमांशु चौहान, महिला मंच की निर्मला बिष्ट ,भार्गव चन्दोला ,नौजवान सभा के अध्यक्ष यूसुफ तिवारी ,मदन मिश्रा ,भूपाल सिंह रावत ,राजा राम सेमवाल ,माला गुरुग ,,आर पी जोशी ,अनन्त आकाश ,रजनी गुलेरिया ,किशन गुनियाल,सतकुमार,सचिन कुमार,सुरेंद्र सिहं राव ,नुरैशा ,उमा नौटियाल ,शैलेन्द्र ,शम्भु प्रसाद ,अनुराधा सुप्रिया,सोनाली ,नन्दन सिहनेगी ,आसाढ सिह ,विजय भट्ट ,भगवन्त पयाल ,रविन्द्र नौडियाल ,सतीश धौलाखण्डी , सैदुल्लाह ,कमलेश,गीता बिषि, गौड ,नरेन्द्र ,मोहन रावत ,देवेश्वरी देवली ,सुन्दर थापा ,जगमोहन रांगड राजेश कुमार महामंत्री डी वाई एफ आई आदि प्रमुख थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments