27.9 C
Dehradun
Monday, May 20, 2024
Homeउत्तराखंडसिंचाई विभाग के उच्च अधिकारियों के संग समीक्षा बैठक की।

सिंचाई विभाग के उच्च अधिकारियों के संग समीक्षा बैठक की।

ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत तटीय इलाकों में आगामी मानसून से पूर्व बाढ़ नियंत्रण के लिए की जाने वाली तैयारियों के संबंध में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने बैराज स्थित अपने कैंप कार्यालय में सिंचाई विभाग के उच्च अधिकारियों के संग समीक्षा बैठक की। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ सुरक्षा निर्माण कार्यों को शीघ्र ही करवाये जाने के सख़्ती से निर्देश दिए।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत गौहरीमाफी में बाढ़ सुरक्षा के संबंध में प्रस्तावित योजना की प्रगति के संबंध में जानकारी ली।जिस पर अधिशासी अभियंता ने विधानसभा अध्यक्ष को अवगत किया कि टेक्निकल एडवाइजरी कमेटी की बैठक के बाद 9 करोड़ रुपए की गौहरीमाफी बाढ़ सुरक्षा योजना शासन को प्रेषित की गई है एवं योजना के लिए धनराशि स्वीकृति अंतिम चरण में है।जिस पर की शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारंभ होगा।
इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने मौके पर ही मुख्य सचिव ओमप्रकाश एवं सिंचाई विभाग के सचिव एसए मुरुगेशन से दूरभाष पर वार्ता कर बाढ़ सुरक्षा योजनाओं को शीघ्र ही स्वीकृति दिए जाने की बात कही।साथ ही अग्रवाल ने सिंचाई विभाग के एचओडी मुकेश मोहन से भी दूरभाष पर वार्ता कर सख्त निर्देश दिए कि बरसात से पहले बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में बाढ़ सुरक्षा कार्य प्रारंभ किए जाएं जिससे जान माल की हानि की संभावना ना रहे।
अधिकारीयों ने बताया कि गोहरीमाफी में वैकल्पिक बाढ़ सुरक्षा हेतु प्राथमिक स्तर से तत्काल प्रभाव में 40 लाख रुपए आवंटित किए गए हैं जिसमें जल्द ही सोंग नदी पर बंदा बनाकर बाढ़ सुरक्षा कार्य प्रारम्भ किया जाएगा।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने प्रस्तावित योजनाओं में साहब नगर बाढ़ सुरक्षा योजना, रायवाला नहर पुनरुद्धार योजना, गोहरीमाफी नहर पुनरुद्धार योजना, हरिपुर कला नहर पुनरुद्धार योजना एवं लकड़ घाट नहर योजना की प्रगति के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की।
विधानसभा अध्यक्ष ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत तटबंध बनाने और बाढ़ सुरक्षा कार्य के लिए लगभग 53 करोड़ रुपये लागत की योजना जो भारत सरकार के माध्यम से गंगा फ्लड कंट्रोल कमेटी, पटना को प्रेषित की गई थी के बारे में भी जानकारी अधिकारियों से ली।
विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि मानसून सत्र से पहले-पहले योजनाओं को प्रस्तावित कर धरातल पर बाढ़ सुरक्षा के कार्य प्रारंभ किए जाएं। अग्रवाल ने कहा कि योजनाओं को प्रस्ताव की प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए। अग्रवाल ने विधानसभा क्षेत्र की सभी नहरों के पुनर्निर्माण हेतु हेतु प्रस्ताव शासन को प्रेषित करने के निर्देश दिए।वही अग्रवाल ने कहा कि जब तक बड़ी योजना स्वीकृत नहीं होती मानसून से पहले छोटी-छोटी योजना बनाकर प्रस्ताव बनाया जाए जिसके शीघ्र स्वीकृत होने पर बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में बाढ़ सुरक्षा संबंधी कार्य कराये जा सकें।
इस अवसर पर सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता दिनेश चंद्र उनियाल, सहायक अभियंता अनुभव नौटियाल, गौहरीमाफी के प्रधान रोहित नौटियाल जोगीवाला के प्रधान सोबन सिंह कैंतूरा, रोशन कुडियाल, क्षेत्र पंचायत सदस्य अमर खत्री, हरपाल राणा, समा पवार, युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष प्रिंस रावत सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments