Homeअपराधमुरादाबाद के ठाकुरद्वारा में 13 सितंबर को एसडीएम पर हुए हमले के...

मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा में 13 सितंबर को एसडीएम पर हुए हमले के आरोपी खनन माफिया को उत्तराखंड के काशीपुर में पकड़ने गई मुरादाबाद पुलिस पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया।

हमले में ठाकुरद्वारा कोतवाल समेत छह पुलिस कर्मी बुरी तरह घायल हो गएए जबकि गोली लगने से जसपुर ब्लॉक के ज्येष्ठ उपप्रमुख की पत्नी की मौत हो गई। तो पुलिस और एसओजी की टीम ने बुधवार की शाम भुल्लर के फार्म हाउस की घेराबंदी कर ली। सादे कपड़ों में अनजान लोगों को देखकर परिजनों ने उन्हें ललकारा। पुलिस के अनुसार ग्रामीण हमलावर हो गए।

 

 

इस दौरान हुई फायरिंग में ड्यूटी कर घर लौट रही गुरताज की पत्नी गुरजीत कौर को गोली लग गई। उन्हें निजी अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया।

फार्म हाउस का गेट बंद कर लिया और हमारे ऊपर गोलियां बरसा दीं

निजी अस्पताल में उत्तराखंड हमले में घायल हुए पुलिस कर्मी संगम, अनिल और सुमित राठी ने घटना बयां की। उन्होंने अफसरों को बताया कि हमारी टीम जफर की तलाश में जुटी थी। वह ठाकुरद्वारा के पास मौजूद था।

 

 

थाने में बनाते रहे रणनीति, मौके पर जाने की नहीं जुटा पाए हिम्मत

एसओजी और ठाकुरद्वारा थाने की पुलिस पर हमले की सूचना मिलने पर डीआईजी शलभ माथुर, एसएसपी हेमंत कुटियाल, एसपी देहात संदीप कुमार मीणा समेत अन्य अधिकारी ठाकुरद्वारा पहुंच गए। अफसरों ने घंटों थाने में बैठकर की रणनीति बनाई। लापता पुलिस कर्मियों की तलाश में टीमें जरूर भेजीं, लेकिन कुंडा चौराहे पर हाईवे पर जाम लगाने और यूपी पुलिस के खिलाफ नारेबाजी होता देख वो भी आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं जुटा पाए

बवाल की आशंका में ठाकुरद्वारा थाने की सुरक्षा बढ़ाई

उत्तराखंड के भरतपुर गांव में हुए पुलिस टीम पर हमला और फायरिंग में एक महिला की मौत की खबर मिलने पर जयपुर, कुंडा और जसपुर थानाक्षेत्र के लोग भी भरतपुर पहुंच गए। बड़ी संख्या में जुटे लोगों ने यूपी पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ हंगामा किया। इसकी भनक लगने पर मुरादाबाद के अफसर अलर्ट हो गए।

आशंका जताई गई कि कहीं भीड़ ठाकुरद्वारा थाने की ओर रुख न कर ले। इसी को देखते हुए ठाकुरद्वारा थाने पर पुलिस लाइन और अन्य थानों से भी फोर्स बुला ली गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments