Homeउत्तराखंडकत्ल करने से ज्यादा वो लोग दोषी है जो गौ माता को...

कत्ल करने से ज्यादा वो लोग दोषी है जो गौ माता को तिल तिल कर मरने के लिए रास्ते में छोड़ देते हैं।

स्वच्छ परिवेश फाउंडेशन ऐसे लोगों की बात कर रहा है जो लोग गौ माता से जीवन भर दूध तो लेते हैं लेकिन जब उनका दूध खत्म हो जाता है तो वे उसे तिल तिल कर मरने के लिए रास्ते में छोड़ देते हैं। अक्सर इसी तरह की खबरें देखने को मिलती है कि किसी गाय का एक्सीडेंट हो गया या कोई गाय कई दिन से बीमारी के बाद या ठंड से मर गई है जिसे किसी व्यक्ति ने बूढ़ी होने पर छोड़ दी है।
संगठन ऐसे लोगों से ज्यादा सरकार को दोषी मानता है जो ऐसे व्यक्तियों पर कोई भी कार्यवाही नहीं करती है। सरकार ने गौ माता पर टैगिंग सिस्टम भी शुरू करा है। लेकिन संगठन सरकार से पूछता है कि आज तक कितने दोषियों को सजा दी है जो इस तरह से गौ माता को सड़कों पर तिल तिल कर मरने के लिए छोड़ देते हैं ऐसे सभी लोगों पर भी गौ हत्या का केस चलना चाहिए एवं सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए। अभी कुछ दिन पहले अपर बद्रीश कॉलोनी से एक गाय के मरने की सूचना आई थी जो कि इस तरह से खुली छोड़ दी गई थी एवं शायद रात को ठंड से मर गई थी। जब तक सरकार दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही नहीं करेगी लोग इसी तरह से दूध निकालने के बाद गौ माता को सड़कों पर छोड़ देंगे मरने के लिए।
इसी प्रकरण में नगर निगम के संबंधित अधिकारी डी सी तिवारी से बात की गई तो उन्होंने यह बात क्षेत्र के पार्षद के ऊपर डाल दी एवं लिखित शिकायत करने को कही जबकि नगर निगम द्वारा जारी किए गए 1 जनवरी 2020 जारी की गई सूचना के अनुसार नगर निगम को को फोन से सूचित करने पर ही आवारा पशुओं का 4 घंटे में समस्या का निस्तारण करेंगे एवं वर्तमान में रेल निगम द्वारा दिया गया फोन नंबर (01352719100) भी कार्य नहीं कर रहा है। नगर निगम में कई बार संबंधित अधिकारी से फोन करने पर एवं लिखित सूचना देने पर भी कार्यवाही नहीं होती है।

स्वच्छ परिवेश संगठन सरकार से मांग करता है कि ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो जो लोग सड़कों पर अपनी गौ माता को दूध निकालने एवं बूढ़ी होने के बाद खुली छोड़ देते हैं गौमाता को तिल तिल कर मरने के लिए रास्ते में छोड़ देते हैं, ऐसे व्यक्तियों पर गौ हत्या का केस चलना चाहिए। एवं ऐसे अधिकारियों के खिलाफ भी कार्यवाही होनी चाहिए जो सूचना पाकर कार्यवाही नहीं करते हैं।
इसके अलावा मेरा गौमाता से संबंधित सभी संगठनों एवं एनजीओ से प्रार्थना है कि वे सभी एक मंच पर आकर या जैसे भी हो ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ आंदोलन करें जो गौ माता को सड़क पर इस तरह से तिल तिल कर मरने के लिए छोड़ देते हैं। उनके खिलाफ एक बहुत बड़े आंदोलन की जरूरत है क्योंकि सड़कों पर निरंतर गाय की संख्या बढ़ रही है जिसकी वजह से सड़कों पर आए दिन एक्सीडेंट भी हो रहे हैं एवं असली दोषियों पर कार्रवाई बिल्कुल भी नहीं हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments