34.2 C
Dehradun
Tuesday, May 28, 2024
Homeउत्तराखंडविधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने मेधावी बच्चों को सम्मानित किया

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने मेधावी बच्चों को सम्मानित किया

डोईवाला स्थित हरज्ञान चंद सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में आज वार्षिक परीक्षा परिणाम एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम के दौरान उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने मेधावी बच्चों को सम्मानित किया।इस अवसर पर अग्रवाल ने कहा कि समाज की दिशा और दशा गुरु ही तय करता है। जब शिक्षण संस्थाएं संस्कारवान होंगी तो उनमें से संस्कार की अविरल धारा फूटेंगी, जिससे हमारी पीढ़ी लाभांवित होगी।
कार्यक्रम का शुभारंभ उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष सहित उपस्थित महानुभाव ने विधिवत दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।वहीं विधानसभा अध्यक्ष ने शिशु मंदिर स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली कुमारी श्रेया एवं विद्या मंदिर स्तर पर सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने वाले नरोत्तम भट्ट को अपना आशीर्वाद देते हुए सम्मानित किया। अग्रवाल ने इस मौके पर कक्षा में प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले सभी बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए पुरस्कार वितरित भी किए।
कार्यक्रम के दौरान स्कूल के प्रधानाचार्य महेश चंद्र गुप्ता ने स्कूल की साल भर की प्रगति आख्या सभी के समक्ष रखी।उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते वर्तमान में कक्षा 6 से कक्षा 12 तक की कक्षाओं को कोराना की गाइडलाइन का पालन करते हुए विधिवत चलाया गया वहीं प्राइमरी स्तर की कक्षाओं को ऑनलाइन चलाया गया।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि हरज्ञान चंद सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल से पढ़कर मेधावी बच्चे देशभर में अपना नाम रोशन कर रहे हैं।श्री अग्रवाल ने कहा कि सीमित आर्थिक संसाधनों के बावजूद भी सरस्वती शिशु मंदिर के अध्यापक अपनी पूर्ण ईमानदारी एवं परिश्रम से बच्चों के परीक्षा परिणाम को उच्च कोटि तक लाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं।विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते जहॉ कई बड़ी प्राइवेट स्कूल बंद है वही इस स्कूल ने कोरोना के नियमों का पालन करते हुए बच्चों की विधिवत कक्षा चलाई, जिसके लिए सभी अध्यापक एवं छात्र छात्राएँ प्रशंसा के पात्र हैं।
विधानसभा अध्यक्ष ने अपने संबोधन में कहा कि शिक्षा तो सभी विद्यालयों में दी जाती है लेकिन शिशु मंदिरों में संस्कारवान, भारतीय संस्कृति से ओत प्रोत, शारीरिक, नैतिक एवं आध्यात्मिक, संगीत, योग तथा संस्कृत की भी शिक्षा दी जाती है।
इस अवसर पर रोशन लाल अग्रवाल, गौरव खंडेलवाल, ईश्वर चंद अग्रवाल, आनंद गुप्ता, कुलदीप सैनी, मुकेश भट्ट, कैलाश मित्तल, चंद्रकला ध्यानी, बॉबी शर्मा, भारत गुप्ता, सियाराम गिरी, पंकज सेमवाल, पूनम नेगी, राजीव पांडे, श्वेता, रितु पाल, कविता नेगी, सागर रावत सहित छात्र छात्राएं उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments